उन लोगों के लिए सेफ्टी/सुरक्षा टिप्स जो नफ़रत को देख/महसूस कर रहे हैं

यदि आप नफ़रत देख/महसूस कर रहे हैं तो विचार करने के लिए 5 चीजें

1.) सुरक्षा पहले: अपने सहज-ज्ञान पर भरोसा रखें और अपने आस-पास की स्थिति का आकलन करें। यदि आप असुरक्षित महसूस कर रहे हैं और आप सक्षम हैं, तो उस जगह को छोड़ दें।

2) शांत रहें: गहरी सांस लें, आंखों से संपर्क न करें/आंखें नीची रखें, और न्यूट्रल बॉडी लैंग्वेज को बनाए रखें।

3) बोलें (यदि आप ऐसा सुरक्षित रूप से कर सकते हैं): शारीरिक रूप से दूरियां बनाकर शांत और दृढ़ आवाज़ में उनके व्यवहार और टिप्पणियों की निन्दा करें।

4) तुरंत सहायता मांगें: आस-पास खड़े लोगों से सहयोग मांगें या हस्तक्षेप करने के लिए कहें।

5) भावनात्मक सहयोग ढूंढें: जब आप स्वयं को सुरक्षित महसूस कर लें, तो जो घटित हुआ है उसके बारे में किसी से बात करें। याद रखें यह आपकी ग़लती नहीं है, और आप अकेले नहीं हैं।

 

5 तरीके मदद करने के लिए यदि आप नफ़रत देख/महसूस कर रहे हैं

1) कार्रवाई करें: उक्त/लक्षित व्यक्ति से बात करें, अपना परिचय दें, और सहयोग की पेशकश करें

2) सक्रिय रूप से सुनें: कोई भी कार्रवाई करने से पहले पूछें और लक्षित व्यक्ति की इच्छाओं का सम्मान करें। ज़रूरत पड़ने पर स्थिति की निगरानी करें।

3) हमलावर पर ध्यान न दें: अपने विवेक का उपयोग करते हुए, अपनी आवाज़, बॉडी लैंग्वेज या ध्यान को भटका कर स्थिति को शांत करने का प्रयास करें।

4) साथ दें: यदि स्थिति खराब होती है, तो लक्षित व्यक्ति को वहां से हटने के लिए अपने साथ जाने को कहें।

5) भावनात्मक समर्थन की पेशकश करें: लक्षित व्यक्ति से पूछें कि वे कैसा महसूस कर रहे हैं। उनको यह पता लगाने में सहायता करें कि वे आगे क्या करना चाहते हैं।